Recurring Deposit क्या होता है ?

Recurring Deposit क्या होता है ?

 


हम सभी लोग अपने सुनहरे भविष्य के लिए दिन -रात मेहनत करते है ,आपको पता होगा हमारे फ्यूचर में होने वाली आकस्मिक घटनाओ के घटित होने की समस्या से निपटने के लिए हमे अचानक ही बहुत सारे पैसों की जरूरत पड़ती है।अगर हम पहले से ही बचत नहीं करेंगे तो हमें अचानक पैसे मिले ,न मिले कुछ कहा नहीं जा सकता।अतः हमें पहले से ही संभावित बचत शुरु कर देनी चाहिए।

ऐसे में जो लोग अच्छे पोस्ट पर है ,या जो अपने खर्च से ज्यादा पैसे कमाते हो वो लोग तो पैसों की बचत आशानी से कर लेंगे। लेकिन सभी लोग ऐसा नहीं कर सकते ,क्योंकि उनको ऐसा लगता है कि इतने कम तनख्वाह में क्या खाए क्या बचाए।अगर आप भी ऐसा सोचते है की आप बचत नहीं कर पाएंगे तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। आप भी बचत कर सकते है।

आपने एक कहावत तो सुनी ही होगी की बूंद बूँद से सागर बनता है। आज के इस आर्टिकल में हम आपको आसान बचत जिसको Recurring Deposit  के नाम से जानते है इसके बारे में बताएंगे । इसे हम RD भी कहते है। इसके बारे में पूरी जानकारी जान ने के लिए इस पूरे पोस्ट को ध्यान से पूरा पढ़ें ,इसमें मैंने आपको इस बचत योजना की पूरी जानकारी दी है।

आवर्ती खाता या Recurring Deposit

कभी आपने सोचा होगा की काश कोई ऐसा बचत खाता हो ज्यादा व्याज मिले और समय से हमरा पैसा हमे वापस मिल जाए । तो आवर्ती खाता ऐसे ही खातों में से है । इसे हम रीकरिंग डिपॉजिट भी कहते है । आइए जानते है क्या होता है रीकरिंग डिपॉजिट या आवर्ती खाता :

आवर्ती खाता पोस्ट ऑफिस तथा बैंक  में खोला जाता है ,जिसमें आपको 5.8 प्रतिशत  का व्याज दिया जाता है । यह खाता कम से कम 5 सालों के लिए खुलवाना होगा ,कही कही पर बैंक ने 10 साल के लिए भी आरडी का आयोजन कर दिया है । जिससे हर तीन महीने में सालाना ब्याज की दर से आवेदक के खाते में ब्याज की राशि भेज दी जाती है । आपको जमा राशि पर चक्रबृद्धि व्याज भी मिलेगा जो आपके खाते में जमा होगा ।  अगर आप चाहे तो 3,6,8 या 10 महीने के लिए भी आरडी कर सकते है । 

क्यों आवर्ती खाता ?

आवर्ती खाता में आप अपने थोड़े पैसे जमा कर दें अगर आप ऐसा करते है तो आपको भविष्य के आकस्मिक मदद पड़ने पर आपका ये थोड़ा थोड़ा करके जमा किया पैसा ही काम मे लाया जा सकेगा । इसके लिए आपको किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी  । जैसे अगर हम कभी अपने परिवार के साथ  खुशिया मना रहे हों तब आपको  डर  रहता होगा की  अगर हमने खुशियों में ज्यादा पैसे खर्च कर दिए तो हमे ज्यादा मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है । अगर आप पहले से बचत कर के तैयार रहेंगे तो आपको किसी बात की टेन्सन नहीं होगी और आप बेफिक्र होकर अपना हैप्पी टाइम इन्जॉय कर पाएंगे ।  

तिमाही चक्रवृद्धि ब्याज का फायदा 

अगर आप भी चाहते है की आप आरडी खाते का लाभ आप भी उठाए ,तो आप एक भरोशे के साथ बैंक या पोस्ट ऑफिस के माध्यम से अपना अकाउंट खुलवा सकते है । आवर्ती खाता या रीकरिंग डिपॉजिट में आपके सैलरी से हर महीने 500 रुपए स्वतः ही कट जाएंगे इसके लिए आपको किसी बैंक या पोस्ट ऑफिस कहीं भी जाने की कोई भी आवश्यकता नहीं होगी । आपको बता दे आरडी खाते में आपको हर तीसरे महीने चक्रवृद्धि व्याज आपके खाते में आ जाएगा ।

कितने साल के लिए होता है आवर्ती खाता 

अगर आप रीकरिंग अकाउंट खोलना चाहते है तो आपको बता दें कि आवर्ती खाते में आप  1 से 10 साल तक पैसे जमा कर सकते है। वही कुछ बैंक  इसमें आपको 6 महीने या 9 महीने  के लिए भी यह खाता खोलने की अनुमति प्रदान करते है । 

इसमें एक बात आपको ध्यान रखनी पड़ेगी जैसे कि अगर आपको एक साल बाद पैसे की आवश्यकता पड़ने वाली है , आपने इसके लिए कुछ योजना बनाई है की मुझे एक साल में ये पैसे निकालने है तब ऐसी स्थिति में आप एक साल के लिए रीकरिंग डिपॉजिट बनाए । ये पैसे आप तय समय से पहले नहीं निकाल सकते । इसलिए जीतने दिनों के लिए आप यह खाता खोलेंगे आपको  उतने दिनों में ही लाभ मिलेगा । 

किस नाम से अथवा किस योजना के नाम से खुलता है आवर्ती खाता

रीकरिंग डिपॉजिट के लिए आपको कुछ खास कटेगरी दी जाती है , जैसे आपको ये ये आप बस अपने लिए खोल रहे है या आपके साथ भी जैसे आपकी पत्नी या किसी की भागीदारी में , क्या आप  नाबालिग है, या फिर आप अनपढ़ हैं । आइए जानते है क्या है आवर्ती  खाता खोलने की जरूरी कैटेगरी  –

व्यक्तिगत खाता : इस खाते के अंतर्गत आपको व्यक्तिगत अर्थात एक ऐसा खाता जिसके हकदार केवल आप हो ,या इसे आप पर्सनल अकाउंट भी कह सकते है। इसके लिए आपको बस अपने नाम से एक खाता खोल लेना है । 

दो व्यक्ति अथवा व्यक्ति संयुक्त खाता: इसके अंतर्गत आपको किसी दो व्यक्ति जैसे  आप अपने साथ अपनी पत्नी ,अपने बच्चे या किसी और व्यक्ति से मिलकर संयुक्त खाते के लिए आवेदन कर सकते है । 

अनपढ़ व्यक्ति : साथ ही साथ अगर आप पढे लिखे नहीं है तब भी आप आरडी के तहत अनपढ़ खाता खोल सकते है । 

दृष्टिहीन व्यक्ति : अगर आप देख नहीं सकते कहने का तात्पर्य अगर आप दृष्टिहीन है तब आप अपना आवर्ती खाता दृष्टिहीन की कैटेगरी के अंतर्गत खोल सकते है । 

नबलिंग : इस कैटेगरी के अंतर्गत आप को नबलिंग उम्मीदवार की कैटेगरी दी जाती है ,जहा आप अपनी सुविधा अनुसार अपना खाता खोल सकते है । 

क्या है मासिक किस्त 

आपको अपने डिपॉजिट खाते के लिए मासिक किस्त के रूप में अगर आप शहरी क्षेत्र में है तो 500 रुपए अथवा आप ग्रामीण क्षेत्र में है तो 100 रुपए मासिक किस्त के रूप में आपके सैलरी के कट जाएंगे । इसके लिए आपको कही जाने की आवश्यकता नहीं होगी । 

आप अपना आरडी खाता अनलाइन भी खोल सकते है । जैसा की हमने बताया है आपको इसके लिए किसी बैंक में भी जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी । और हम सभी जानते है की बचत हमारी जिंगड़ी को खुसियों से भर देता है । ये बचत का पैसा हमें निराश होने से बचाते  है । अतः हम सभी को कही न कही बचत जरूर करनी चाहिए ।

 हमरा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमे कमेन्ट में जरूर बताए । और इस पोस्ट को अपने करीबी मित्रों से भी शेयर करें । जिससे वो भी इस योजना का लाभ ले सके ।

Previous Post Next Post