भारत के इन शहरों में शुरू होने जा रही है 5G सेवाएं, कितने में आएंगे इसके रिचार्ज प्लान?

भारत के इन शहरों में शुरू होने जा रही है 5G सेवाएं, कितने में आएंगे इसके रिचार्ज प्लान?


भारत में 5G कनेक्टिविटी को हकिकत बनने में अब ज्यादा देर नहीं है. इसकी शुरुआत भारत के 4 मेट्रो शहरों समेत कुल 13 बड़े शहरों से होगी. भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन आइडिया द्वारा इन शहरों में 700 मेगाहर्ट्ज, 3.5 गीगाहर्ट्ज़ और 26 गीगाहर्ट्ज़ बैंड में 5G की ट्रायल अन्तिम चरण में है. हाल ही में इसकी जानकारी दूरसंचार मंत्रालय ने दी थी. इन कम्पनियों ने शिक्षा, एंटरप्राइजेज, मोबिलिटी और सुरक्षा के क्षेत्र में विशेष रूप से भारत में इस्तेमाल के लिए प्रदर्शन करके भी दिखाए हैं.
इन शहरों में शुरू होंगी 5G सेवाएं

ये शहर हैं दिल्ली, गुरुग्राम, मुंबई, पुणे, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, चंडीगढ़, लखनऊ, अहमदाबाद, गांधीनगर और जामनगर. दूरसंचार मंत्रालय ने बताया था कि इन्हीं चार मेट्रो शहर और 9 अन्य बड़े शहरों में 5G की शुरूआती सेवाएं शुरू की जाएंगी.


कब शुरु होंगी 5G सेवाएं

संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने पिछले महीने कहा था कि 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी 2022 के अप्रैल-मई में होगी. हालाँकि, नीलामी में जुलाई तक देरी होने की संभावना है क्योंकि ट्राई (TRAI) ने अभी तक सरकार को अपनी अनुशंसा पत्र (recommendation) नहीं भेजी है. उम्मीद है कि TRAI मार्च तक अपनी अनुशंसा सरकार को भेज देगी. जिसके बाद नीलामी होगी. लेकिन 5G की वास्तविक शुरुआत तो टेलिकाॅम कम्पनियों की तैयारियों पर ही निर्भर करेगा. हालाँकि केंद्र सरकार स्वतंत्रता दिवस पर इसे लाॅन्च करने का मन बना रही है.

क्या होंगे 5G के फायदे

सबसे पहला फायदा तो यही है कि 4G नेटवर्क की तुलना में 5G बहुत तेज है. 5G कनेक्टिविटी में आपको 20 Gbps तक की स्पीड मिलेगी. यानी आपको अब HD वीडियो देखने और डाउनलोड करने में 1 सेकेंड भी नहीं लगेगा. जहाँ 4G नेटवर्क 6GHz तक के फ्रीक्वेंसी बैंड को सपोर्ट कर सकता है, वहीं 5G नेटवर्क 60GHz से 300GHz के बीच फ्रीक्वेंसी बैंड को सपोर्ट करने में सक्षम होगा. यानी 5G नेटवर्क में आते ही आप कम से कम 10 गुना तेज हो जाएंगे, तो निश्चित रूप से आप इंटरनेट का लुत्फ शानदार तरीके से उठा पाएंगे. वीडियो काॅलिंग, ऑनलाइन कंटेट देखने, अपलोड या डाउनलोड करने में आसानी हो जाएगी.

ये तो हो गई इसकी सविधाओं की बात. यदि हमे सुविधाएं मिलेंगी और वो भी तेज गति से तो इसके लिए हमें आवश्यक रूप से कुछ कीमत भी चुकानी पड़ेगी. तो क्या 5G नेटवर्क 4G से महंगा होगा या फिर इससे भी सस्ता हो जाएगा. आइए जानते हैं.

क्या होगी 5G रिचार्ज प्लान की कीमत?

सबसे पहली बात तो 5G की सेवा एयरटेल, जियो और वीआई, ये तीन कम्पनियां लेकर आ रही हैं. इनमें से किसी भी कम्पनी ने अभी तक 5G सेवाओं की कीमत के बारे में कुछ नहीं कहा है. इसलिए हम इसका सही अंदाजा नहीं लगा सकते कि 5G रिचार्ज प्लान्स कितने में आएंगे. इसके अलावा और बहुत सारे फैक्टर्स हैं, जिन पर 5G नेटवर्क की कीमत निर्भर करता है.


सबसे पहला फैक्टर है 5G स्पेक्ट्रम की निलामी. अभी तक सरकार की तरफ से 5G स्पेक्ट्रम की निलामी नहीं की गई है. निलामी की कीमत जितनी कम होगी, हमे 5G सेवाएं भी उतनी ही सस्ती मिलेगी. कम्पनियों ने इसके लिए सरकार से आग्रह भी किया है कि स्पेक्ट्रम की कीमत को कम रखा जाए.
5G services

इसका दूसरा बड़ा फैक्टर है टेलिकाॅम कम्पनियों का बकाया. इन कम्पनियों का पहले से ही सरकार के पास स्पेक्ट्रम और AGR का हजारों करोड़ का बकाया है. इसके अलावा इन कम्पनियों ने अपने आप को जीवित रखने के लिए कर्ज भी ले रखा है.

इसलिए इन सभी कर्जों को चुकाने और नए स्पेक्ट्रम की खरीद के लिए हो सकता है कि ये कम्पनियां 5G के महंगे रिचार्ज प्लान्स लेकर आएं. इसका उदाहरण हम हाल ही में देख चुके हैं. लगभग सभी कम्पनियों ने हाल ही में अपने 4G के सभी रिचार्ज प्लान्स को 20 से 25 प्रतिशत तक महंगा किया. वहीं कुछ दूसरे देशों से अनुमान लगाने की कोशिश करें, जहाँ 5G सेवाएं शुरू हो चुकी है, तो पता चलता है कि वहाँ कि कम्पनियों ने भी 4G के मुकाबले 5G रिचार्ज को 10 से 40 प्रतिशत तक महंगा रखा है.
Previous Post Next Post